छत्तीसगढ़ब्रेकिंग न्यूजरायपुर

शिक्षा को बढ़ावा देने पर सीएम भूपेश  ने सूर्यवंशी समाज की सराहना…बोले- शिक्षा वह ज्योति है, जो अन्याय से लड़ना और आगे बढ़ना सिखाती है

रायपुर. मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल आज जांजगीर-चाम्पा जिले के ग्राम सिवनी में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय विराट सूर्यांश शिक्षा महामहोत्सव के शुभारंभ कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने कहा कि यह जानकर खुशी हुई कि सूर्यवंशी समाज ने शिक्षा के महत्व को समझा और अपने समाज के बच्चों को आगे बढ़ाने के लिए शिक्षा को चुना। शिक्षा ही वह ज्योति और प्रकाश है जिसके माध्यम से अन्याय के खिलाफ लड़ने और आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है। उन्होंने छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के दिशा में किए जा रहे प्रयासों की जानकारी देते हुए कहा कि  अब छत्तीसगढ़ की पहचान बदल रही है। सांस्कृतिक, आर्थिक, सामाजिक सहित अन्य क्षेत्रों में भी परिवर्तन के साथ राज्य का विकास हो रहा है।सूर्यांश शिक्षा महामहोत्सव

सूर्यांश शिक्षा उत्थान समिति द्वारा आयोजित सूर्यांश महा महोत्सव में मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि उन्हें यहाँ आकर शांति और सुकून की अनुभूति होती है। देश की आजादी से पहले अशिक्षा और कुरीतियों ने समाज को शिक्षा से वंचित किया तो समाज के महापुरुषों ने आने वाली पीढ़ियों को शिक्षा के प्रति जागरूक कर शिक्षित बनाने में योगदान दिया। समाज आज उन महापुरुषों व पूर्वजों के योगदान को याद कर आगे बढ़ रही है यह बहुत खुशी की बात है। मुख्यमंत्री  ने कहा कि बाबा साहब अम्बेडकर ने संदेश दिया था कि शिक्षित बनो, संगठित रहो, सघंर्ष करो। इसके साथ ही बुद्ध के करुणा, मैत्री और प्रज्ञा पर भी जोर दिया।शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार

हमारी सरकार भी शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार की दिशा में काम कर रही है। नक्सल क्षेत्रों के स्कूलों को सँवारा जा रहा है। शिक्षकों की व्यवस्था की जा रही है। शिक्षा के मंदिर को बेहतर बनाने के लिए राज्य के बजट में एक हजार करोड़ रुपये का प्रावधान भी रखा गया है। जहां एक ओर सर्वसुविधायुक्त स्वामी आत्मानन्द स्कूल खोलकर अंग्रेजी व हिंदी में गुणवत्तापूर्ण  शिक्षा दी जा रही है, दो नए यूनिवर्सिटी खोले गए हैं, वहीं दूसरी ओर हम रोजगार मूलक शिक्षा व्यवस्था पर जोर दे रहे हैं। इसके लिए आटीआई की मांग को देखते हुए नए ट्रेड तथा 12 वीं तक के विद्यार्थियों को कौशल में पारंगत करने 1200 करोड़ रुपये की राशि का प्रावधान किया गया है। बढ़ावा दे रही है छत्तीसगढ़ सरकार

उन्होंने कहा कि डॉक्टरों की कमी को दूर करने 4 नए मेडिकल कॉलेज भी खोले गए हैं। जांजगीर में जल्दी ही मेडिकल कालेज खुलेगा। उन्होंने गरीबों के निःशुल्क उपचार के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी देते हुए कहा कि गम्भीर बीमारियों के उपचार के लिए मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना से 20 लाख रुपये तक दी जाती है। मुख्यमंत्री सुपोषण योजना से कुपोषित बच्चों को सुपोषित बनाया जा रहा है। शिक्षा को बढ़ावा देने पर सूर्यवंशी समाज की सराहना कीमुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कहा कि जन्म से लेकर मृत्यु तक योजनाएं बनाई गई है। सरकार छत्तीसगढ़ के सभी गरीबों के जेब में पैसा डाल रही है। राज्य में समर्थन मूल्य पर धान खरीदने के अलावा राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत इनपूट सब्सिडी देने के साथ गोधन न्याय योजना से गौठान बनाकर गौ-संरक्षण तथा गोबर खरीद कर पशुपालकों को लाभ पहुचाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोबर से दीया, सजावटी सामान, खाद बनाने के साथ अब प्राकृतिक पेंट भी तैयार किया जा रहा है। स्कूली भवनों में इसका इस्तेमाल कर स्व-सहायता समूहों की महिलाओं को रोजगार से जोड़ा जाएगा।

 

 

 

Live Share Market
 

जवाब जरूर दे 

क्या बॉक्स ऑफिस पर पठान का रिकॉर्ड तोड़ पाएगी जवान?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button