क्राइमछत्तीसगढ़रायपुर

वेबपोर्टल में खबर चलाने की धमकी देकर सरपंच से मांगे 30 हजार दो पर जुर्म दर्ज, ऐसे और भी लोग सक्रिय, एक निजी स्कूल संचालक को अफसरों की आड़ में धमका रहे फर्जी पत्रकार!

रायपुर। वेबपोर्टल में खबर चलाने की धमकी देकर सरपंच से 30 हजार रुपए मांगने वाले दो लोगों के खिलाफ पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया है। मामला छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिला अंतर्गत कनकबीरा चौकी काहै। रायगढ़ जिले के सारंगढ़ व बरमकेला ब्लॉक में ऐसे और भी लोग सक्रिय है। जो क्षेत्र में खुद को पत्रकार बताकर अवैध उगाही का काम कर रहे है। पुलिस चौकी कनकबीरा (थाना सारंगढ़) अन्तर्गत ग्राम पंचायत झिलगीटार डोमाडीह पंचायत के सरपंच हरिहर जायसवाल द्वारा 22 सितंबर को पुलिस चौकी कनकबीरा में चंद्रकांत साहू निवासी पहन्दा और मुकेश साहू निवासी साल्हे द्वारा गौठान निर्माण कार्य में गडबड़ी करने की खबर वेबपोर्टल में चलाने की धमकी देकर 30 हजार रुपए मांग करने तथा झूठी खबर वेब पोर्टल में चलाए जाने की लिखित शिकायत की गई थी। जांच के बाद पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 384,34 के तहत जुर्म दर्ज कर लिया है। जानकारी के मुताबिक पीडि़त सरपंच हरिहर जायसवाल ने पुलिस को बताया कि धमाका न्यूज के पत्रकार चंद्रकांत साहू और मुकेश साहू दोनों 14 सितंबर को आए और सरपंच को बोलने लगे कि ग्राम पंचायत डोमाडीह में गौठान निर्माण का कार्य चल रहा है जिसमें 14वें मद का पैसा आपके द्वारा गबन किया गया है। 30 हजार रुपए दीजिए नहीं तो खबर चलाया जाएगा। सरपंच ने कहा कि उसके द्वारा किसी भी प्रकार का कोई गबन नहीं किया गया है तो खुद को पत्रकार बताने वाले दोनों आरोपी वहां से चलते बने। इसके बाद 21 सितंबर को फिर दोनों डोमाडीह पंचायत में आकर भूपेंद्र सिंह राजपूत एवं दयानिधि सिंह राजपूत का बाइट लिए। दोनों अपने बाइट में पंचायत के काम को सही बताया, परन्तु वीडियो में उनकी आवाज को दबाकर दोनों का फोटो तथा सरपंच, पंच व सचिव का फोटो फेसबुक से निकाल कर प्रथम आवाज धमाका न्यूज वेबपोर्टल में डोमाडीह पंचायत का फर्जीवाड़ा हेडिंग बनाकर न्यूज चलाया गया और व्हाट्सएप ग्रुपों में वायरल किया गया। सरपंच की शिकायत पर जांच उपरांत पुलिस ने दोनों आरोपियों पर अपराध पंजीबद्ध कर मामले को जांच में लिया है।

एक निजी स्कूल संचालक को भी फर्जी पत्रकार धमका रहे: सारंगढ़ के एक निजी स्कूल संचालक को भी पैसे की मांग की गई थी, लेकिन उन्होंने देने से इनकार कर दिया तो स्कूल के खिलाफ लगातार गलत खबर चला कर दबाव बनाने की कोशिश की जा रही है। ऐसे लोगों के खिलाफ स्कूल संचालक पुख्ता सबूत इक_ा कर रहे है ताकि इनके खिलाफ भी पुलिस में शिकायत कर सकें। हालांकि स्कूल संचालक पर दबाव बनाने वाले लोग दूसरे गिरोह के है। ऐसे एक नहीं, बल्कि सारंगढ़ व बरमकेला में आधा दर्जन गिरोह है जो अलग-अलग टीम बनाकर अवैध उगाही का कर पत्रकारों व पत्रकारिता को बदनाम करने में लगे है।

बड़े अधिकारियों का दिखाते हैं धौंस: इस गिरोह के लोग क्षेत्र के बड़े-बड़े अफसरों से अपना उठना बैठना बताकर धौंस दे रहे हैं। अवैध उगाही करने के लिए झूठी शिकायत भी करते है। इनकी शिकायत पर ईमानदार अफसर जांच करने भी पहुंच जाते है। जबकि वास्तविक शिकायत की जांच करने में महीनों लगा देते है। यही नहीं, बड़े अफसरों को अपना रिश्तेदार बताने भी नहीं चूकते। पीडि़त लोग ऐसे लोगों व क्षेत्र के कुछ भ्रष्ट अफसरों के खिलाफ उच्चाधिकारियों से भी शिकायत की है।

Live Share Market
 

जवाब जरूर दे 

इंडिया गठबंधन का पीएम दावेदार किसे बनाना चाहिए?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button