छत्तीसगढ़राजनीतिरायपुर

अमित जोगी का कटाक्ष-दिल्ली के जयसिंह और कोरबा के जयसिंह में कुछ तो फर्क होना चाहिए!

रायपुर। छत्तीसगढ़ में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन से खाली हुई मरवाही की सीट पर विधानसभा उपचुनाव हो रहा है। जाति मुद्दे के कारण अमित जोगी बाहर हो चुके हैं। इन दिनों मरवाही में जोगी परिवार ‘न्याय यात्राÓ निकाल कर मरवाही के जनता तक पहुंच रही है, लेकिन अब इसमें भी पेंच फंस चुका है। शिकायत पर केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने गंभीरता से लेते हुए जांच के निर्देश देने के साथ ही रिपोर्ट मांगी है। इसको लेकर सोमवार को अमित जोगी ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक कटाक्ष किया। अमित ने लिखा- छत्तीसगढ़ के एकमात्र मान्यता प्राप्त दल ‘जनता कांग्रेस जेÓ का सार्वजनिक रूप से न्याय मांगना किस कानून के अंतर्गत अपराध हो गया है? नामांकन रद्द होने के बाद क्या केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने हमें प्रतिबंधित संगठन करार दिया हैं? दिल्ली के जयसिंह और कोरबा के जयसिंह में कुछ तो फर्क होना चाहिए।

बता दें कि मरवाही उपचुनाव से बाहर होने के बाद जोगी परिवार मरवाही में ‘न्याय यात्राÓ निकाल कर लोगों के बीच पहुंच कर पूर्व सीएम अजित प्रमोद कुमार जोगी के किताबें बांट रहे हैं। इसको लेकर कांग्रेस नेता संदीप दुबे ने ईमेल के जरिए भारत निर्वाचन आयोग को ईमेल से शिकायत भेजी थी। शिकायत में बताया गया है कि जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी और कोटा की विधायक डॉ. रेणु जोगी मरवाही विधानसभा क्षेत्र के गांव-गांव घूम रहे हैं। किताब बांट रहे हैं। स्व. अजीत जोगी की तस्वीर बांट कर लोगों की भावनाओं को उकसाने का काम कर रहे हैं। इसके लिए जिला निर्वाचन अधिकारी से अनुमति भी नहीं ली गई है। इसे आयोग ने संज्ञान में लेकर आयोग ने जांच के निर्देश देने के साथ ही रिपोर्ट मांगी है।

Live Share Market
 

जवाब जरूर दे 

इंडिया गठबंधन का पीएम दावेदार किसे बनाना चाहिए?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button